महिलाओं के शरीर पर सफेद दाग क्यू होते हैं | शरीर पर सफेद दाग होने के कारण

महिलाओं के शरीर पर सफेद दाग क्यू होते हैं | शरीर पर सफेद दाग होने के कारण- ज्यादातर महिलाओं के शरीर के अलग-अलग हिस्सों पर सफेद दाग दिखाई देती हैं। यह पाया गया है कि त्वचा पर इस तरह की सफेद धारियों के कारण युवा महिलाएं बहुद  चिंतित हो जाती हैं।

खुले कपड़े पहनने से शरीर के कुछ हिस्से उजागर हो जाते हैं, सफेद धारियां दुनिया को दिखाई देती हैं। सफेद दाग़ की वजह से युवतियों को लगता है कि उनकी खूबसूरती में निखार आ रहा है। आखिर ये सफेद दाग क्या हैं? चेहरा पर सफेद दाग होने के कारण क्या हैं ?

आप हमर पोस्ट के अंदर निचे दिया बिषय में जानकारी ले सकते हो

शरीर पर सफेद दाग होने के कारण

शरीर के विभिन्न हिस्सों पर त्वचा पर सफेद धब्बे ‘खिंचाव के निशान’ के रूप में जाने जाते हैं। इसे मेडिकल भाषा में ‘स्ट्रा’ कहते हैं। इस तरह की धारियां निपल्स, जांघों, बाहों, कूल्हों और स्तनों के आसपास की त्वचा पर दिखाई देती हैं। कुछ में लाल दाग  होती हैं, लेकिन अधिकांश में सफेद दाग होती हैं। हालांकि यह समस्या ज्यादातर महिलाओं में देखी जाती है, लेकिन पुरुषों में यह असामान्य नहीं है। यह 70% महिलाओं और 30% पुरुषों में पाया जाता है।

 

सफेद दाग होने के कारण

सफेद धारियाँ होने के कई कारण होते हैं। ऐसे तो कुछ रोगों के कारण भी पाए जाते हैं। लेकिन, उनमें से ज्यादातर का कारण एक ही है। यानी कम समय में मोटापा और कम समय में मोटाना ।

यह मुख्य कारण है कि पहले से ही जन्म देने वाली महिला के शरीर पर सफेद धारियाँ अधिक दिखाई देती हैं। जब बच्चा गर्भ में होता है, तो शरीर बहुत मोटा हो जाता है और त्वचा खिंच जाती है। बच्चे के जन्म के बाद खिंची हुई त्वचा अचानक सिकुड़ जाती है। इस बीच, त्वचा पर सफेद धारियाँ बन जाती हैं।

अत्यधिक स्ट्रेचिंग से त्वचा के अंदर  तंतु फट सकते हैं। इस समय त्वचा की ऊपरी भाग  पतली हो जाती है और भीतरी भाग  फट जाती है। यह तब होता है जब सफेद धारियाँ दिखाई देती हैं। इस मामले में, त्वचा अधिक विषाक्त हो सकती है।

युवा महिलाओं में पहली बार मासिक धर्म के दौरान शरीर के अलग-अलग हिस्से मोटे हो जाते हैं और सफेद धारियां दिखाई देने लगती हैं। स्तनों, कूल्हों और अन्य जगहों पर पहले से ही खिंचाव के निशान देखे जा सकते हैं। कुछ लोगों में स्टेरॉयड दवाओं के अत्यधिक उपयोग से स्ट्रेच मार्क्स हो सकते हैं। यह पुरुषों में अधिक आम है।

 

 

सफेद दाग के लक्षण और उपचार

 

सफेद दाग के  निशान से पहले कोई लक्षण नहीं होते हैं। ऐसी समस्या को होने से रोकने के लिए पूर्व ज्ञान के साथ विशेष परिस्थितियों से अवगत होना आवश्यक है। व्यायाम और खाने पर ध्यान देना शरीर को संतुलित बनाना है। समय रहते सावधानी बरती गई तो सफेद रेखाओं की समस्या नहीं आएगी। हालांकि, ऐसी सफेद धब्बा  कोई बीमारी नहीं हैं।

इसका शारीरिक स्वास्थ्य पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। लेकिन खूबसूरती के लिए यह जानलेवा लगती है। ऐसी दाग को हटाने के लिए विभिन्न मॉइस्चराइज़र का भी उपयोग किया जाता है। इसे लेजर से भी हटाया जा सकता है।

 

Related tips

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share article

read more