नाखून से अंगुली की सुंदरता को बढ़ाता है। युवा महिलाएं अपनी उंगलियों को आकर्षक बनाने के लिए अपने नाखूनों को कई पॉलिश से रंगती हैं। लेकिन क्या केवल सुंदरता के साथ नाखूनों को जोड़ना पर्याप्त है? नहीं आप अपने नाखूनों, नाखून का रंग को देखकर अपने शरीर में होने वाली विभिन्न बीमारियों के बारे में पता लगा सकते हैं।

अपने नाखूनों के रंग और आकार का में ध्यान देने से सरीर में हने वाले गंभीर बीमारियां का लक्षण देखा सकता है। हम हमारी नाख़ून के साइज, कलर में थोड़ा ध्यान देना है तो हमारी बिमारी के पूरी  ले सकते है।  अक्सर हम हॉस्पिटल में देखते है बिमारी के नाख़ून भी देखते है डाक्टर इसी के उदाहरण है।

 

नाखून के रंग बदलना से क्या होगा। 

  • गाढ़ा और पीला – नाखून का आकार मोटा हो रहा है लेकिन अगर लंबाई बढ़ना बंद हो जाता है, तो फोक्सो  में समस्या हो सकती है। इस बार नाखून का रंग पीला पड़ने लगता है।

 

  • पतला और फटा – यदि आपके नाखून बहुत पतले हो रहे हैं और आपके हाथ पानी में डूबा हुआ है, तो आप पाएंगे कि आपके नाखून टूट चुके हैं और मोटे हैं। उच्च थायराइड भी नाखून की जड़ से निकल सकता है।

 

  • पीला और सफेद – यदि नाखून का रंग आधा पीला और आधा सफेद दिखता है तो जान लें कि रक्त में लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या कम हो रही है। यह तब है जब आपको ऐसे भोजन की आवश्यकता होती है जो आइरन  में उच्च हो।

 

  • गहरा नीला – यदि नाखून का रंग गहरा नीला दिखता है तो यह समझना चाहिए कि शरीर को आवश्यक मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिल रहा है। इससे सांस की बीमारी या नाड़ी की समस्या हो सकती है।

 

  • बहुत लाल – यदि नाखून का रंग बहुत लाल लगने लगे तो याद रखें कि उच्च रक्तचाप के संकेत हैं। ऐसे समय में दिल बहुत जोखिम में है।

 

नाखून का कलर से गंभीर बीमारी के लक्षण पता करने का तरीके आप को एक लम्बी समय बीमार पर्ने से बचा सकता है।  क्यों की नाखून के कलर से आपने बीमार पता करके आपने बीमार का इलाज जल्दी मिल सकता है।  बीमार बढ़ने से आप को आने वाले समाया में समाया जरूर काम हो जाएगा।

नाखून का रंग देखकर किसी को हेल्प मिलता है किसीको गंभीर बीमार होने से बचा सकता है।  नाखून, नाखून का कलर देखकर पहचान सकते हैं बीमारी या जानकारी जरूर सेयर करना दोस्त के साथ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here